brajesh-thakur-bihar.jpg

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले की सुनवाई की

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले की जांच पर सवाल उठाए हैं। शीर्ष अदालत ने मंगलवार को बिहार पुलिस को फटकार लगाई। बेंच ने कहा कि घटना के तीन महीने बाद भी मंजू वर्मा कैबिनेट मंत्री कैसे बनी रहीं? यह बहुत ही शॉकिंग है। क्या यह मंजू वर्मा का प्रभाव है कि पुलिस ने उन्हें अब तक गिरफ्तार नहीं किया है? अग्रिम जमानत अर्जी खारिज होने के बाद भी पूर्व मंत्री की अब तक गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई? यह पूरा मामला संदेहास्पद है। हद हो चुकी है। किसी को भी कानून की फिक्र नहीं है।सुनवाई के दौरान जस्टिस मदन बी लोकुर, जस्टिस एसए नजीर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच को एक वकील ने बताया कि शेल्टर होम में लड़कियों को इंजेक्शन के जरिये ड्रग्स दिया जाता था ताकि उनके साथ दुष्कर्म किया जा सके। इस पर बेंच ने हैरानी जताई। जस्टिस लोकुर ने कहा- आखिर ये हो क्या रहा है?

Comments

Please Click Here To Post Comment Login